अच्छी खबर ! G7 Summit में पीएम मोदी को शामिल होने के लिए डोनाल्ड ट्रंप ने दिया आमंत्रण

न्यूज़ पैंट्री डेस्क: भारत और चीन के बीच सीमा पर बढ़ते तनाव के बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने 2 जून को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से फोन पर बातचीत की. इस दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी को जी-7 सम्मेलन में शामिल होने का आमंत्रण दिया है. दरअसल अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने भारत को जी-7 में शामिल करने की इच्छा भी जताई है. गौरतलब है कि विश्व के दो प्रमुख नेताओं के बीच कोरोना महामारी, डब्ल्यूएचओ में सुधार और जी-7 को लेकर बात हुई. इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप के बीच भारत और चीन के बीच जारी विवाद को लेकर भी चर्चा हुई. पीएम मोदी ने भी कहा कि कोरोना महामारी के बाद के समय में इस तरह के मजबूत संगठन (जी-7) की दरकार है. पीएम मोदी ने कहा कि जी-7 सम्मेलन की सफलता के लिए अमेरिका और अन्य देशों के साथ मिलकर काम करना खुशी का विषय है. इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका में जारी हिंसा को लेकर चिंता व्यक्त की और स्थिति के जल्द ठीक होने की कामना की.

जी-7 क्या है ? (What is G7?)

जी-7 सात सदस्य देशों का संगठन (Organization) है. फिलहाल कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, यूनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका इसके सदस्य देश हैं. शनिवार को राष्ट्रपति ट्रंप ने इसके विस्तार के प्रस्ताव रखा है. इस विस्तार में एशिया के दो देश -भारत और दक्षिण कोरिया- शामिल है. इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया और रूस को भी इस संगठन का सदस्य बनाने की बात ट्रंप ने कही है.

जी-7 के सामने चुनौतियां (Challenges before the G7)

जी-7 समूह सदस्य देशों के बीच कई तरह की असहमतियां भी हैं. पिछले वर्ष कनाडा में हुए जी-7 के शिखर सम्मेलन में अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप का जी-7 के अन्य सदस्य देशों के साथ मतभेद उत्पंन्न हो गया था. राष्ट्रपति ट्रंप के आरोप थे कि दूसरे देश अमेरीका पर भारी आयात शुल्क लगा रहे हैं. इसके साथ पर्यावरण के मुद्दे पर भी उनका सदस्य देशों के साथ मतभेद था.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *