LG ने दिल्ली सरकार को दिया दोहरा झटका, केजरीवाल बोले- भगवान की मर्जी है

न्यूज पैंट्री डेस्क : दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने आम आदमी पार्टी (AAP) की सरकार को एक ही दिन में दोहरा झटका दिया है. उपराज्यपाल ने केजरीवाल सरकार के दो बड़े फैसलों को पलट दिया है. उन्होंने दिल्ली में सिर्फ दिल्ली वासियों के इलाज वाले फरमान को बदल दिया है. साथ ही उन्होंने बिना लक्षण वाले व्यक्ति को भी कोरोना की जांच कराने की इजाजत दे दी है.

उपराज्यपाल ने इस संबंध में आधिकारिक आदेश जारी किया है. उन्होंने कहा है कि जो लोग कोरोना पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आए हैं लेकिन उनमें कोई लक्षण नहीं है, वह 5 से 10 दिन के अंदर कोरोना टेस्ट करवा सकते हैं. इससे पहले उपराज्यपाल ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के उस फैसले को खारिज कर दिया था जिसमें उन्होंने कहा था कि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली के कोरोना मरीजों का ही इलाज होगा.

सीएम केजरीवाल का पलटवार

उपराज्यपाल के इन दो फैसलों को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि LG साहिब के आदेश ने दिल्ली के लोगों के लिए बहुत बड़ी समस्या और चुनौती पैदा कर दी है. देशभर से आने वाले लोगों के लिए कोरोना महामारी के दौरान दिल्ली में इलाज का इंतजाम करना बड़ी चुनौती है. शायद भगवान की मर्जी है कि हम पूरे देश के लोगों की सेवा करें. हम सबके इलाज का इंतजाम करने की कोशिश करेंगे.

इसे भी पढ़ें- CM अरविंद केजरीवाल को बुखार और गले में खराश, कल कराएंगे कोरोना टेस्ट

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस लेकर भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘बीजेपी की राज्य सरकारें PPE किट घोटालों और वेंटिलेटर घोटालों में व्यस्त हैं. दिल्ली सरकार सोच समझकर और ईमानदारी से इस महामारी को मैनेज करने की कोशिश कर रही है. बीजेपी से यह देखा नहीं जा रहा इसलिए LG पर दबाव डालकर घटिया राजनीति की है.’

बता दें कि रविवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली वासियों का ही इलाज किया जाएगा. उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो तीन दिन में सभी बेड भर जाएंगे और दिल्ली के लोगों को ही इलाज नहीं मिल पाएगा.

Spread the love