मनमोहन सिंह ने PM मोदी को सलाह दी लेकिन जेपी नड्डा को पसंद नहीं आई

न्यूज पैंट्री डेस्क : भारतीय जनता पार्टी ने गलवान संघर्ष पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की टिप्पणी पर कड़ी आपत्ति जताई है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने खुद इस पर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि मनमोहन सिंह के कार्यकाल में चीन ने भारत की अच्छी खासी जमीन पर कब्जा कर लिया था.

जगत प्रकाश नड्डा ने कहा, “काश वो चीन की योजना को लेकर तब चिंता प्रकट करते जब वो प्रधानमंत्री थे, और जब उन्होंने भारत की सैकड़ों वर्ग किलोमीटर लंबी जमीन चीन के सामने समर्पण कर दी. उनके कार्यकाल में 2010 से 2013 के बीच चीन ने 600 बार घुसपैठ की.”

जेपी नड्डा का कांग्रेस और मनमोहन सिंह पर निशाना

नड्डा ने मनमोहन सिंह के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी को भी नहीं बख्शा. उन्होंने कहा, “डॉ. सिंह उसी पार्टी से आते हैं जिन्होंने असहाय होकर भारत की 43 हजार किलोमीटर से ज्य़ादा जमीन चीन को दे दी. यूपीए के कार्यकाल में बिना लड़े समर्पण किया जाता रहा. उन्होंने बार-बार हमारी सेनाओं का मनोबल गिराया है.”

इसे भी पढ़ें- पूर्व प्रधानमंत्री का मोदी पर निशाना, कहा- ‘पीएम मोदी अपने बयान से चीन के रुख को ताकत नहीं दें’

दरअसल बीजेपी अध्यक्ष नड्डा ने मनमोहन सिंह के उस बयान का जवाब दिया जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री ने भारत-चीन सीमा पर तनाव के मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सलाह दी थी. मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी को सावधान करते हुए कहा था कि भ्रामक प्रचार और झूठ के आडंबर से सच को नहीं दबाया जा सकता है.

मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी को दी सलाह

मनमोहन सिंह ने गलवान घाटी में भारत-चीन की सेना के बीच हुई हिंसक झड़प पर एक बयान जारी किया था. इसमें उन्होंने लिखा, “हम सरकार को आगाह करेंगे कि भ्रामक प्रचार कभी भी कूटनीति और मजबूत नेतृत्व का विकल्प नहीं हो सकता. पिछलग्गू सहयोगियों द्वारा प्रचारित झूठ के आडंबर से सच्चाई को नहीं दबाया जा सकता.”

इसे भी पढ़ें- केजरीवाल ने बताया, कोरोना की लड़ाई में कितनी मदद कर रही है मोदी सरकार!

पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि मौजूदा सरकार के लिए गए फ़ैसले और उठाए गए कदम ये तय करेंगे कि भविष्य उनका आकलन कैसे करता है. इसके साथ ही मनमोहन सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी को सलाह दी. उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री को अपने शब्दों व एलानों द्वारा देश की सुरक्षा एवं सामरिक व भूभागीय हितों पर पड़ने वाले प्रभाव के प्रति सदैव बेहद सावधान रहना चाहिए.”

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *