17 मिनट के छोटे से भाषण में क्या बड़ा बोले पीएम मोदी?

न्यूज पैंट्री डेस्क : राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए उनकी सरकार ने सही समय पर क़दम उठाए हैं. मोदी ने कहा कि सही समय पर किए गए लॉकडाउन और अन्य फ़ैसलों ने भारत में लाखों लोगों की जान बचाई है. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि जब से अनलॉक-1 शुरू हुआ है, लोगों की लापरवाही बढ़ती चली जा रही है.

उन्होंने स्वास्थ्य से जुड़े गाइडलाइन को पालन करने के लिए सभी से अपील की और कहा कि चाहे गांव का प्रधान हो या प्रधानमंत्री, क़ानून से ऊपर कोई नहीं है. उन्होंने कहा कि पीएम ग़रीब कल्याण योजना का विस्तार किया जा रहा है.

ग़रीबों को पाँच किलो गेंहू या चावल

उन्होंने कहा कि अब तक उनकी सरकार ने 80 करोड़ लोगों को तीन महीने तक मुफ़्त राशन दिया है और अब ये सुविधा नवंबर, 2020 तक लागू रहेगी. सरकार ने इन पाँच महीनों के लिए ग़रीब परिवार के हर सदस्य को पाँच किलो गेंहू या पाँच किलो चावल मुफ़्त मुहैया कराया जाएगा. इसके लिए सरकार 90 हज़ार करोड़ रुपए ख़र्च करेगी.

मोदी ने कहा कि देश के मेहनतकश किसान और ईमानदार करदाता के कारण सरकार इस स्थिति में है कि वो ग़रीबों को मुफ़्त राशन देने में सक्षम है. लाकडाउन को धीरे-धीरे ख़त्म करने की दिशा में सरकार ने तीन जून से 30 जून तक कुछ रियायतें दी थीं जिसे सरकार ने अनलॉक-1 कहा था. अब एक जुलाई से अनलॉक-2 की शुरुआत होगी.

मोदी अपने लंबे संबोधनों के लिए जाने जाते हैं लेकिन मंगलवार को राष्ट्र के नाम अपने संदेश को उन्होंने बहुत छोटा रखा और सिर्फ़ 16-17 मिनट तक भाषण दिया. लोगों को उम्मीद थी कि शायद वो कोरोना के अलावा भारत-चीन विवाद पर भी कुछ बोलेंगे लेकिन उन्होंने चीन के बारे में कोई बात नहीं की.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *