COVID-19:  कोरोना के 3 नए लक्षणों की हुई पहचान, जानिए क्या हैं वो लक्षण !

न्यूज़ पैंट्री डेस्क: कोरोना वायरस ने मौजूदा वक्त में दुनियाभर में कहर मचा रखा है. इसके वजह से अभी तक लाखों लोगों की मौत हो चुकी है. और अभी कई लाख लोग इस वायरस से पीड़ित हैं. इसी क्रम में एक खबर आई  है. दरअसल संयुक्त राष्ट्र सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (United Nations Center for Disease Control and Prevention ) ने कोरोना वायरस के तीन नए लक्षणों की पहचान की है.

इन्हें अब अपनी मौजूदा लिस्ट में भी शामिल किया है. दरअसल अमेरिकी स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी की 12 लक्षणों की लिस्ट में अब नाक बंद होना या बहती नाक, मतली (जी मिचलाना) और दस्त को भी दिया जोड़ा गया है.

कोरोना की चपेट में आए लोगों में अलग-अलग लक्षण

गौरतलब है कि बुखार या ठंड लगना, खांसी, सांस लेने में तकलीफ या कठिनाई, थकान, मांसपेशियों या शरीर में दर्द, सिरदर्द, गंध या स्वाद की कमी और गले में खराश ऐसे लक्षण हैं जो पहले से ही संयुक्त राष्ट्र सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन यानि सीडीसी की लिस्ट में हैं. एजेंसी ने अपनी वेबसाइट के जरिए कहा है कि इस लिस्ट में सभी संभावित लक्षण शामिल नहीं हैं.

सीडीसी इस लिस्ट को तब तक अपडेट करता रहेगा जब तक हम कोरोना के बारे में अधिक नहीं जान जाते हैं. इसके साथ ही यह भी कहा गया है कि जो लोग कोरोना की चपेट में आए हैं, उनमें अलग-अलग लक्षण हो सकते हैं.

वृद्ध-वयस्कों को कोरोना का खतरा अधिक

दरअसल हेल्थ एजेंसी ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि Sar-Cov-2 वायरस के संपर्क में आने के बाद लक्षण प्रकट होने में 2-14 दिनों का समय लग सकता है. सीडीसी के लक्षणों की लिस्ट पहले बुखार, खांसी और सांस की तकलीफ तक सीमित थी. उसके बाद 6 नए लक्षण जोड़े गए- ठंड लगना, मांसपेशियों में दर्द, सिरदर्द, गले में खराश और स्वाद या गंध महसूस नहीं होना.

सांस की तकलीफ को भी बाद में लक्षण में जोडा गया. स्वास्थ्य एजेंसी ने कहा, ‘किसी में भी हल्के से लेकर गंभीर लक्षण हो सकते हैं. वृद्ध वयस्कों और जिन लोगों में हृदय या फेफड़ों की बीमारी या मधुमेह जैसी गंभीर बीमारी हैं, उनमें कोरोना की खतरा अधिक है. ‘

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *