कोरोना से जंग में ये दवा साबित हुआ काफी कारगर, सैकड़ों मरीज हुए ठीक !

न्यूज़ पैंट्री डेस्क: खबरों के मुताबिक, एसएन मेडिकल कॉलेज में कोरोना संक्रमित गंभीर मरीजों की जान स्टेरॉयड से बचाई जा रही है. इसके अलावा तीन तरह की और दवाएं दी जा रही हैं. इन दवाओं के परिणाम अच्छे आ रहे हैं. सांस लेने में परेशानी और निमोनिया के मरीजों की दवाओं से जान बच रही है. गौरतलब है कि देश दुनिया में कोरोना से पीड़ित मरीजों की जान बचाने के लिए कई दवाओं पर शोध चल रहा है, ऐसे में स्टेरॉयड डेस्कामैथासोन के परिणाम अच्छे बताए जा रहे हैं. एसएन मेडिकल कॉलेज में इसी स्टेरॉयड ग्रुप की हायर जनरेशन की मिथाइल प्रेडिसिलोन का तकरीबन एक महीने से इस्तेमाल किया जा रहा है. इसके परिणाम अच्छे आ रहे हैं.

बता दें कि कुछ मरीजों में डेक्सामैथासोन भी इस्तेमाल की जा चुकी है. इसके अलावा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन, निमोनिया के मरीजों में एजीथ्रोमाइसिन एंटीबायोटिक और कीटे मारने की दवा इवरमेक्टिन का भी इस्तेमाल किया गया है. इन सभी दवाओं के परिणाम अच्छे आए हैं. कोरोना से व्यक्ति की उम्र, लक्षण और कोरोना के साथ कोई अन्य बीमारी तो नहीं है, इसे देखते हुए हर मरीज को इन चारों में से अलग अलग दवाएं दी जा रही हैं. कुछ मामलों में परिणाम अच्छे आ रहे हैं, आक्सीजन पर रखने के बाद मरीज ठीक हो रहे हैं.

एसएन से 288 मरीज हो चुके हैं अभीतक डिस्चार्ज

बता दें कि एसएन मेडिकल कॉलेज में कोरोना संक्रमित 400 से अधिक मरीज भर्ती किए जा चुके हैं, इनमें से 288 मरीज अभीतक डिस्चार्ज हो चुके हैं. डिस्चार्ज होने वाले मरीजों में 82 साल की बुजुर्ग महिला से लेकर कैंसर और गुर्दा रोगी भी हैं. कोरोना संक्रमित मरीजों में स्टेरॉयड मिथाइल प्रेडिसिलोन और डेक्सामिथासोन का इस्तेमाल किया जा रहा है, इसके परिणाम अच्छे हैं. इसके साथ ही एचसीक्यूएस, इवरमेंक्टिन, एजीथ्रोमाइसिन के परिणाम अच्छे मिल रहे हैं.

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *