मुंबई में सोसायटी में ही बनाया ICU, दिल्ली में लोगों ने खरीदी ऑक्सीजन मशीन

न्यूज पैंट्री डेस्क : आर्थिक राजधानी मुंबई और दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए लोगों ने अपने ही स्तर पर सुरक्षा के इंतजाम करने शुरू कर दिए हैं. इन शहरों में रहने वाले लोगों ने बिल्डिंग में ही क्वारंटाइन सेंटर बनाने और ऑक्सीजन का इंतजाम करना शुरू कर दिया है, ताकि संक्रमित मरीज को वक्त पर इलाज मिल सके. मुंबई स्थित परेल के आवासीय परिसर ने अपनी बिल्डिंग में ही क्वारंटाइन यूनिट और मरीजों की देखभाल के लिए आईसीयू (ICU) बेड रखने की तैयारी शुरू कर दी है. वहीं, दिल्ली में एक रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन ने ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर (oxygen concentrators) खरीदे हैं.

परेल की सोसायटी ओर से कहा गया है कि अशोक टॉवर्स जहां पर 4 ऊंची इमारते हैं, यहां पर लगभग 650 परिवार रह रहे हैं. ऐसे में वहां पर रह रहे स्थानीय लोगों को चिकित्सा सुविधा देने के लिए परिसर में मौजूद खाली फ्लैट्स, क्लब हाउस और पार्टी हॉल को क्वारंटाइन यूनिट में तब्दील किया जाएगा.

जगह की हो रही है पहचान
अशोक टॉवर्स के मैनेजिंग कमेटी के सदस्य डॉ. निलेश शाह ने कहा, ‘हम अपने क्लब हाउस और पार्टी हॉल में आईसीयू बेड की सुविधा स्थापित करने के लिए जगह की पहचान करने में लगे हुए हैं.’ उन्होंने कहा, ‘आईसीयू बेड की सुविधा के लिए तमाम उपकरण खरीदने के लिए प्रोसेस जारी है.’

अस्पतालों का बोझ होगा कम
हाउसिंग सोसाइटी के सदस्यों ने कहा कि यदि बिल्डिंग में रहने वाले किसी शख्स का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव (Corona Test) आता है और उसमें लक्षण कम दिखाई देते हैं तो वो इस सेंटर्स में रह सकेंगे. यहां पर उन्हें हर तरह की सुविधा दी जाएगी. हालांकि ज्यादा गंभीर कोरोना मरीजों को यहां नहीं रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि इस तरह से मुंबई के प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों का बोझ कम होगा.

गरीबों को दिए जाएंगें ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर
वहीं, बात अगर राजधानी दिल्ली की जाए तो पश्चिम विहार स्थित रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन ने 3 ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर खरीदे हैं. सोसायटी के अध्यक्ष लोकेश मुंजाल का कहना है, ‘दिल्ली में कोविड-19 (COVID19) के बढ़ते मामलों को देखते हुए हमने जरूरतमंदों को फ्री ऑक्सीजन देने के लिए फैसला लिया है, जिसकी वजह से ये कॉन्सेंट्रेटर खरीदे गए हैं.’

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *