खुली गुंडागर्दी पर उतरी चीन कंपनी, भारत में ही बेवजह मजदूरों को निकाल रही बाहर !

न्यूज़ पैंट्री डेस्क:  खबरों के मुताबिक, मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले में स्थित भरवेली मॉयल (मैगनीज ओर इंडिया लि.) में अंडरग्राउंड माइनिंग का काम कर रही चीन की कंपनी सीसी 3, 4 ने कोरोना वायरस की वजह से देश में लॉकडाउन में भी काम करती रही और 72 भारतीय मजदूरों को कोरोना वायरस से संक्रमित होने का अंदेशा जताकर निकाल दिया. खबरों के मुताबिक, चीनी कंपनी के अधिकारीयों का मानना हैं कि भारत में कोरोना संक्रमण है और सभी भारतीय कोरोना संक्रमित हैं. इस वजह से वे उनसे काम नहीं करा सकते. बता दे कि ये आरोप चीनी कंपनी में कोरोना काल से पहले तक मजदूरी का कार्य कर रहे मजदूरों ने लगाए हैं.

मजदूरों ने कहा- देश में लागू किए लॉकडाउन में भी चीनी कंपनी ने काम बंद नहीं किया था

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, मजदूरों ने बताया है कि लॉकडाउन में भी चीनी कंपनी ने काम अपना बंद नहीं किया. इस दौरान सिर्फ भारतीय मजदूरों को ही काम से निकाल दिया गया. इससे मजदूरों की आर्थिक हालत बेहद दयनीय हो गई है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मॉयल भारत सरकार की लघु रत्न कंपनी है. यह मैगनीज खनन करती है. कंपनी के मैगनीज खनन कार्य में चीनी कंपनी भी कार्यरत है.

 10 हजार रुपये एडवांस से भी मुकरी चीनी कंपनी

मजदूरों ने बताया की काम बंद कराने के बाद कंपनी की शिकायत मॉयल प्रबंधन और कलेक्टर से भी की गई थी. इसके बाद कंपनी द्वारा उन्हें एडवांस के रूप में 10 हजार रुपये देना तय हुआ था, लेकिन जब एडवांस देने की बारी आई तो सिर्फ 5 हजार रुपये ही दिए जा रहे थे जिसे मजदूरों ने लेने से मना कर दिया.

मजदूरों ने कहा- चीनी कंपनी ने 72 मजदूरों को काम से निकाल दिया

खबरों के मुताबिक, मजदूरों ने बताया कि चीनी कंपनी ने 72 मजदूरों को काम से निकाल दिया है, लेकिन उन्हें अब तक ये जानकारी नहीं दी गई है कि आखिर उन्हें काम से क्यों निकाला गया है. निकाले गए मजदूरों को एक अन्य कंपनी में काम का प्रस्ताव दिया गया, जिस पर भरोसा नहीं होने से उन्होंने उस प्रस्ताव को खारिज कर दिया.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *