भारत को अनलॉक 1.0 पड़ा मंहगा, सिर्फ 11 दिन में आए कोरोना के 1 लाख नए मामले

न्यूज पैंट्री डेस्क : भारत में कोरोना वायरस महामारी विकराल होती जा रही है. इस जानलेवा वायरस पर काबू पाने के लिए तमाम प्रयास किए जा रहे हैं. इसके बावजूद हालात बदतर होते दिख रहे हैं. चिंता की बात यह है कि रोजाना इसके बढ़ने की रफ्तार भी तेज हो रही है. पिछले कुछ दिनों से लॉकडाउन के प्रतिबंधों में भी छूट दे दी गई है. इसकी वजह से यह महामारी चरम की ओर बढ़ रही है.

भारत में 30 जनवरी को कोरोना वायरस का पहला केस सामने आया था. इसके बाद चार महीने में एक लाख कोरोना पॉजिटिव मरीज निकले. इसका मतलब हुआ कि एक लाख केस पहुंचने में पूरे 120 दिन लगे. जून की पहली तारीख से 11 जून तक सिर्फ ग्यारह दिन में ही 1 लाख और नए मामले दर्ज हो चुके हैं. ध्यान रहे कि एक जून से ही देश में अनलॉक 1.0 की शुरूआत हुई थी. मतलब पूरे देश में लॉकडाउन के प्रतिबंधों में छूट दे दी गई.

तीन लाख के करीब पहुंचे कोरोना के मामले

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक 11 जून तक भारत में 2 लाख 90 हजार लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है. इनमें से करीब 1 लाख 43 हजार लोग उपचार के बाद ठीक हो चुके हैं. इसके अलावा करीब 8 हजार 200 लोगों की मौत हो गई है. बचे हुए 1 लाख 39 हजार मामले अभी सक्रिय हैं.

इसे भी पढ़ें- पाकिस्तान ने भारत के गरीबों के लिए दिया मदद का ऑफर, कहा- हमारे पास धांसू आइडिया है!

जिस दिन केंद्र सरकार ने लॉकडाउन की घोषणा की थी उस दिन तक भारत में 536 लोग कोरोना से संक्रमित थे. 30 जनवरी को पहला कोरोना का मामला सामने आया था. उस दिन चीन से लौटे केरल के एक शख्स की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. फरवरी के महीने में सिर्फ दो नए केस दर्ज हुए. इस तरह से मार्च की शुरूआत तक देश में सिर्फ तीन कोरोना संक्रमित मामलों की ही पुष्टि हुई थी.

अनलॉक 1.0 के बाद सिर्फ 11 दिन में 1 लाख नए कोरोना मरीज

24 मार्च को लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई थी. देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कड़े प्रतिबंध लगा दिए गए. लेकिन कोरोना की रफ्तार पर ब्रेक नहीं लग पाया. 31 मई को लॉकडाउन खत्म हुआ तब देश में करीब 1 लाख 90 हजार मामले थे जो सिर्फ 11 दिन में बढ़कर 2 लाख 90 हजार तक पहुंच गए हैं.

इसे भी पढ़ें- हॉटस्पॉट इलाकों में अपने आप ठीक हो गए हजारों कोरोना मरीज, सरकार को पता ही नहीं चला

1 जून से देश में अनलॉक 1.0 की शुरूआत हुई. रेल और बसें चलने लगीं और हवाई सेवा भी शुरू कर दी गई. बाजार खुलते ही भीड़ जमा होने लगी. कोरोना वायरस ने यहां से स्पीड पकड़ ली और दो हफ्ते से भी कम समय में 1 लाख से ज्यादा लोगों को अपनी चपेट में ले लिया. वर्ल्डोमीटर के मुताबिक भारत में 11 जून को रात 8 बजे तक 2 लाख 90 हजार 481 केस थे. जबकि, 31 मई को करीब 1.90 लाख केस थे. इस तरह देश में महज 11 दिनों में एक लाख केस सामने आ गए हैं.

Spread the love