चीन ने बॉर्डर पर तैनात की 10 हजार की फौज और तोप-टैंक, भारत ने क्या किया?

न्यूज पैंट्री डेस्क : भारत और चीन (India-china) के बीच लद्दाख (Ladakh) में बॉर्डर पर तनाव जारी है. वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर सीमा विवाद को लेकर चल रहे गतिरोध को समाप्त करने के लिए दोनों देशों की ओर से बातचीत की जा रही है. 6 जून को भारत और चीन के बीच सैन्‍य स्‍तर पर भी बातचीत हुई थी. इसके बाद दोनों देश आपसी सहमति से अपने-अपने सैनिकों को वापस बुलाने पर राजी हो गए हैं.

इस बीच भारत ने चीन पर दो टूक निशाना साधा है. भारत ने कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है कि तनाव तभी कम हो सकता है जब चीन एलएसी पर तैनात अपने 10 हजार सैनिक, टैंक और तोप को वहां से हटा लेगा. बता दें कि चीन ने इन सैनिकों और हथियारों को भारतीय क्षेत्र के पास तैनात किया है. इसे देखते हुए भारत ने भी सीमा पर सैनिकों का जमावड़ा बढ़ा दिया था.


भारत की चीन को दो टूक

समाचार एजेंसी एएनआई में इससे संबंधित जानकारी दी गई है. खबर में कहा गया है कि पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में चीन और भारत के सैनिक पीछे हटना शुरू हो गए हैं. भारत का कहना है कि चीन की ओर से एलएसी पर अपने क्षेत्र में तैनात किए गए डिविजन साइज (10 हजार से अधिक) सैनिकों और भारी हथियारों को वहां से हटा ले. 

इसे भी पढ़ें – कराची के पास नजर आए भारतीय फाइटर जेट, पाकिस्तान में मचा हंगामा

भारत की ओर साफ कर दिया गया है कि एलएसी से सेना का पीछे हटना तो शुरू हो गया गया है लेकिन जब तक चीन सैनिकों, टैंक और भारी हथियारों को नहीं हटाता त‍ब तक तनाव कम नहीं हो सकता. जानकारी के मुताबिक चीन की गतिविधियों पर नजर रखने और जरूरत पड़ने पर मुंह तोड़ जवाब देने के लिए भारत ने भी लद्दाख क्षेत्र में 10 हजार सैनिक तैनात किए थे.

 

गतिरोध समाप्त करने के लिए वार्ता जारी

चीन ने एलएसी पर अपने क्षेत्र में होटन और गर गुनसा एयरबेस पर लड़ाकू विमानों की भी तैनाती की है. भारत ने भी मई के आखिर में सीमा पर फाइटर प्लेन तैनात कर दिए थे. इसके बाद दोनों देशों के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया था. 6 जून को भारत और चीन के बीच  सैन्‍य स्‍तर पर बातचीत हुई थी. इसके बाद दोनों देशों ने कहा था कि भारत और चीन राजनयिक और सैन्‍य स्‍तर पर बातचीत करके तनाव कम करने की दिशा में आगे बढ़ेंगे.

Spread the love