Covid-19 : क्या भारत में 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ाया जाएगा ? 

न्यूज पैंट्री डेस्क : भारत में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लॉकडाउन लागू है. 31 मई को इसका चौथा चरण समाप्त हो रहा है. ऐसे में अब सवाल उठ रहे हैं कि क्या लॉकडाउन को बढ़ाया जाएगा या नहीं? पिछले कुछ दिनों से देश में जिस तरह से कोरोना के नए मामले दर्ज हुए हैं उसे लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं कि लॉकडाउन की अवधि बढ़ाई जा सकती है.

भारत में लॉकडाउन-4 ख़त्म होने वाला है. इस बीच आगे की रणनीति बनाने के लिए गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. इससे पहले कैबिनेट सेक्रेटरी राजीव गाबा ने राज्यों के मुख्य सचिवों से बात की थी. बैठक में उन 13 शहरों पर फोकस था, जहां कोरोना के सबसे अधिक मामले सामने आ रहे हैं. इन सब कोशिशों के बीच चर्चा ये हो रही है कि क्या लॉकडाउन-5 आएगा? अगर लॉकडाउन-5 आएगा तो उसका स्वरूप क्या होगा?

लॉकडाउन-5 आएगा या नहीं?

लॉकडाउन-4 में सरकार ने कई प्रतिबंधों में छूट देने का ऐलान किया था. इस दौरान देश में कोरोना संक्रमण के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं. इसकी आशंका पहले से जताई जा रही थी. लेकिन केंद्र सरकार के लिए चिंता का विषय वे पांच राज्य हैं, जहां संक्रमण की संख्या सबसे ज़्यादा है. इस नजरिये से देखें तो केंद्र सरकार इन पांचों राज्यों पर ज्यादा फोकस कर सकती है.

इसे भी पढ़ें -लॉकडाउन के बाद सभी मंदिर-मस्जिदों को खोलने वाला पहला राज्य बना बंगाल

इस बात की संभावना है कि केंद्र सरकार लॉकडाउन के अगले चरण में पिछली बारी की ही तरह राज्यों को ज्यादा अधिकार दे दे. इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता है कि केंद्र सरकार के अगले आदेश को लॉकडाउन ही ना कहा जाए, बल्कि केवल उन दिशा-निर्देशों की लिस्ट जारी की जाए, जो आने वाले दिनों में प्रतिबंधित रहेंगे या फिर उन सेवाओं को दोबारा शुरू करने की छूट दे दी जाए.

उद्योग क्षेत्र के लिए लॉकडाउन 5.0 के मायने

चौथे चरण के लॉकडाउन के पहले औद्योगिक क्षेत्र ने आर्थिक पैकेज की मांग की थी जिसे पूरा किया जा चुका है. साथ ही सरकार ने तमाम प्रतिबंधों में छूट भी दे दी थी ताकि ज्यादातर जगह काम शुरू हो सके. बस उद्योग जगत इस समय मजदूरों की कमी का सामना कर रहा है लेकिन फिर भी अधिकतर जगहों पर काम शुरू हो गया है.

इसे भी पढ़ें – कोरोना वायरस से होने वाली मौतों के मामले में भारत ने चीन को पीछे छोड़ा

जहां तक बाजार खोलने का सवाल है तो केंद्र सरकार और विभिन्न राज्य सरकारों ने दुकानें खोलने के लिए तमाम रियायतें दे दी हैं. हालांकि उन्हें सीमित समय तक की दुकान खोलने की इजाजत दी गई है. मसला यह है कि अभी बाजार में ग्राहक नहीं आ रहे हैं. अभी भी लोगों में डर का माहौल बना हुआ है.

ट्रेनें, लोकल ट्रांसपोर्ट और मेट्रो की तैयारी

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन पहले ही संकेत दे चुका है कि वो ट्रेन सेवा शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार है. कर्मचारियों को वापस काम पर बुला लिया गया है लेकिन अभी सरकार के आदेश का इंतजार किया जा रहा है. दिल्ली में कोरोना के मामलों में तेजी देखी जा रही है इसलिए मेट्रो सेवा शुरू करने का फैसला खतरनाक हो सकता है. डीएमआरसी पहले ही राजस्व नुकसान झेल रहा है ऐसे में अगर मेट्रो सेवा शुरू नहीं हुई तो उसकी मुश्किलें और बढ़ सकती हैं.

इसे भी पढ़ें – लॉकडाउन की रणनीति तो फेल हो गई अब आगे का प्लान बताए मोदी सरकार : राहुल गांधी

हो सकता है कि सरकार कुछ सख्त नियमों के साथ मेट्रो चलाने की मंजूरी दे दे. इसके तहत मेट्रो में सीमित संख्या में यात्रियों को चढ़ने की अनुमति दी जाए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सिर्फ जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को यात्रा करने की छूट दी जाए.

सिनेमा और मनोरंजन जगत का लॉकडाउन

लॉकडाउन के कारण पिछले दो महीने से सीरियल्स के न तो नए एपीसोड आ रहे हैं, और न ही नई फ़िल्में रिलीज़ हो रही हैं. साथ ही शूटिंग पर भी पूरी तरह ब्रेेक लग गया है. हाल ही में अक्षय कुमार की शूटिंग करते हुए तस्वीरें सामने आई थीं लेकिन कहा जा रहा है कि वे सरकारी ऐड के लिए शूट कर रहे थे. फिलहाल फ़िल्मों के पोस्ट प्रोडक्शन का काम थोड़ा बहुत शुरू हो चुका है. ग्रीन जोन में शूटिंग की इजाजत भी मिल गई है.

इसे भी पढ़ें – सोनू सूद के बाद स्वरा ने बढ़ाए मदद के हाथ, नंगे पैर चल रहे मजदूरों को बांटे जूते-चप्पल

लॉकडाउन के अगले चरण में मनोरंजन जगत को भी छूट मिलने की उम्मीद है. सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सभी जरूरी उपायों का पालन करते हुए शूटिंग की इजाजत दी जा सकती है.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *