OIC में सउदी अरब और यूएई ने भी दिया पाकिस्तान को झटका, भारत को मिला समर्थन

न्यूज पैंट्री डेस्क : इस्लामिक देशों के संगठन, ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन यानी ओआईसी (OIC) में पाकिस्तान को बड़ा झटका लगा है. पाकिस्तान ने यहां भारत को इस्लामोफोबिया का आरोप लगाकर घेरने की कोशिश की थी लेकिन कई बड़े मुस्लिम देशों ने भारत का साथ दिया. इस मसले पर सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात ने भी भारत का समर्थन किया है.

ओआईसी (OIC) उन देशों का संगठन है जहां इस्लामिक शासन है. इस संगठन में 50 से अधिक इस्लामिक मुल्क शामिल हैं जिनमें पाकिस्तान का भी नाम है. पाकिस्तान इस मंच से भारत पर इस्लामोफोबिया को बढ़ावा देने के आरोप लगाता रहा है. पाकिस्तान का कहना है कि भारत में मुसलमानों के साथ नफरत और हिंसा फैलाई जा रही है. ओआईसी (OIC) के कई सदस्यों ने पाकिस्तान के इन आरोपों को सिरे से नकार दिया.

सउदी अरब और यूएई ने दिया भारत का साथ

हाल के सालों में भारत ने अरब देशों के साथ अपने रिश्तों को मजबूत किया है. मौजूदा वक्त में सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात जैसे बड़े देशों के साथ भारत के द्विपक्षीय संबंध नई उचाईयों पर हैं. यही वजह है कि ओआईसी (OIC) में इन देशों ने पाकिस्तान की बजाय भारत का साथ दिया है. इसे मुस्लिम देशों में भारत की बढ़ती अहमियत के तौर पर देखा जा रहा है. इससे पहले भी कई मौकों पर इन देशों ने भारत का साथ दिया है.

इसे भी पढ़ें – कोरोना वायरस का रायता फैलाकर चीन अब दुनिया के लिए कौन से मोमोज भेज रहा है ?

ओमान भारत का अहम रणनीतिक साझेदार और भरोसेमंद दोस्त है. ओआईसी (OIC) में ओमान ने भी इसे भारत का अंदरूनी मसला कहकर समर्थन किया है. संगठन के कई देशों ने पाकिस्तान के आरोपों पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. इससे पहले संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के राजदूत मुनीर अकरम ने ओआईसी (OIC)की एक मीटिंग में भारत पर इस्लामोफोबिया को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था. मालदीव ने पाकिस्तान के इस आरोप की धज्जियां उड़ा दी थीं. उसने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और वहां 20 करोड़ मुसलमान रहते हैं. ऐसे में इस्लामोफोबिया का आरोप लगाना सही नहीं है.

भारत के समर्थन में उतरा मालदीव

मालदीव ने कहा था कि भारत की 130 करोड़ की आबादी को सोशल मीडिया पर दुष्प्रचार करके बदनाम नहीं किया जा सकता है. भारत ने तमाम इस्लामिक देशों के साथ दोस्ती बढ़ाई है. इन देशों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने सर्वोच्च सम्मान से भी नवाजा है. मालदीव ने दलील दी कि पाकिस्तान समेत सभी दक्षिण एशियाई देशों को साथ मिलकर काम करना चाहिए. इसके लिए पाकिस्तान को उदार रवैया अपनाने की जरूरत है.

Spread the love