चीन और नेपाल के बाद अब बांग्लादेश भारत से क्यों नाराज हो गया?

न्यूज पैंट्री डेस्क : भारत के अपने पड़ोसी देशों के साथ रिश्ते लगातार बिगड़ते जा रहे हैं. यह भारत के लिए चिंता का सबब बन गया है. नेपाल ने विवादित नक्शे को लेकर भारत के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. वहीं, लद्दाख में सीमा विवाद को लेकर भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने आ गई हैं. पाकिस्तान के साथ हमेशा की तरह ही खराब रिश्ते हैं. अब बांग्लादेश भी भारत से नाराज होता दिख रहा है.

दिलचस्प बात ये है कि भारत ने ही बांग्लादेश को पाकिस्तान से आजाद कराया था. तब से लेकर अब तक दोनों देशों के बीच रिश्ते सौहार्दपूर्ण ही रहे हैं. दोनों देशों के बीच सीमा विवाद भी था जिसे सुलझा लिया गया है. अब ताजा विवाद बांग्लादेश और चीन के बीच हुए समझौते को लेकर है. बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए के अब्दुल मोमिन ने चीन के साथ हुई संधि पर भारत के रुख की आलोचना की है.


भारत में चीन-बांग्लादेश डील की आलोचना

दरअसल, बांग्लादेश और चीन के बीच एक अहम व्यापारिक समझौता हुआ है. इसके तहत चीन बांग्लादेश के करीब 97 फीसदी प्रोडक्ट्स पर कोई टैक्स नहीं लगाएगा. माना जा रहा है कि बांग्लादेश के लिए काफी फायदेमंद सौदा है. एक जुलाई से यह समझौता लागू हो जाएगा. भारत में इस सौदे को चीन की चैरिटी के रूप में देखा जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- भारत और चीन में से रूस किसका साथ दे रहा है?

बांग्लादेश के विदेश मंत्री ने भारत के इस रुख की आलोचना की है. उन्होंने कहा कि जो विश्लेषक चीन और बांग्लादेश के बीच हुए इस समझौते को ‘एक गरीब देश बांग्लादेश के लिए चीन की चैरिटी’ बता रहे हैं, दरअसल, ऐसा कहकर वे अपनी तुच्छ मानसिकता जाहिर कर रहे हैं. बांग्लादेश इस तरह की चीजों को बर्दाश्त नहीं करेगा. उन्होंने कहा कि हमारे द्विपक्षीय रिश्तों और समझौतों पर किसी तीसरे पक्ष का राय देना सही नहीं है.


बांग्लादेश की भारतीय मीडिया को लताड़

यह पहली बार नहीं है जब बांग्लादेश ने भारत के संदर्भ में कोई बयान दिया हो. इससे पहले भी बांग्लादेशी विदेश मंत्री ने भारत को लेकर आपत्ति दर्ज कराई थी. दरअसल, भारतीय मीडिया में कहा जा रहा था कि चीन इस डील के जरिए बांग्लादेश को अपने पाले में करने की कोशिश कर रहा है. इस पर बांग्लादेशी विदेश मंत्री मोमिन ने भारतीय मीडिया को लताड़ लगाई थी. उन्होंने आरोप लगाया कि भारतीय मीडिया ने नैतिक पत्रकारिता का त्याग कर दिया है.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *