Video: तेज भूंकप आया फिर भी इंटरव्यू देती रहीं प्रधानमंत्री, बोलीं- ठीक ठाक झटके महसूस हुए

न्यूज पैंट्री डेस्क : न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिका ऑर्डन हमेशा सुर्खियों में रहती हैं. वह न्यूजीलैंड के बाहर भी दुनिया के तमाम देशों में लोकप्रिय हैं. उन्हें तेजतर्रार और समझदार प्रधानमंत्री के रूप में जाना जाता है. सोमवार को वह राजधानी वेलिंगटन में टीवी पर लाइव इंटरव्यू दे रही थीं. इसी दौरान तेज भूकंप आ गया. इससे वह कुछ देर के लिए रुकीं जरूर लेकिन इंटरव्यू जारी रखा. उनके लाइव रिएक्शन का वीडियो वायरल हो गया है.

दरअसल न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंका ऑर्डन सोमवार को एक टीवी चैनल को इंटरव्यू दे रही थीं. इस दौरान तेज झटकों वाला भूंकप आ गया. जिस समय भूकंप आया ऑर्डन ने शो के होस्ट रेयान ब्रिज से कहा, “रेयान…इस वक्त हम भूंकप का सामना कर रहे हैं. यहां चीजें हिल रही हैं… अगर तुम देख पा रहे हो तो मेरे पीछे की चीजें भी हिल रही हैं. पार्लियामेंट बिल्डिंग थोड़ी ज्यादा हिल रही है.” जब वह यह बता रही थीं तब कैमरा और बाकी चीजें भी हिल रही थीं. भूकंप थमने के बाद उन्होंने अपने होस्ट को बताया कि वह एकदम सुरक्षित हैं और फिर उन्होंने इंटरव्यू दोबारा शुरू कर दिया.

भूकंप से नहीं हुआ कोई नुकसान

जियोनेट के मुताबिक न्यूजीलैंड की राजधानी वेलिंगटन और उसके आसपास के क्षेत्र में भूकंप के झटके महसूस किए गए. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 5.8 आंकी गई. इसका केंद्र वेलिंगटन के पास के ही शहर लेविन के उत्तर-पश्चिमी इलाके में जमीन से 30 किलोमीटर अंदर था.

इसे भी पढ़ें – OIC में सउदी अरब और यूएई ने भी दिया पाकिस्तान को झटका, भारत को मिला समर्थन

इंटरव्यू के बाद पीएम जेसिका ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इसमें उन्होंने बताया कि भूकंप से किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ है. न्यूजीलैंड प्रशांत महासागर में 40 हजार किलोमीटर इलाके में फैले ‘रिंग ऑफ फायर’ पर स्थित है. साल 2011 में न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर में 6.3 तीव्रता का भूकंप आया था. इसमें 185 लोग मारे गए थे.

2017 में न्यूजीलैंड की पीएम बनीं थीं ऑर्डर्न

जेसिंडा आर्डर्न साल 2017 में न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री बनीं थीं. तब से लेकर अब तक वह अपने शानदार काम के लिए बहुत लोकप्रिय हो गई हैं. देश में कई संकटों का बेहतर तरीके से सामना करने के लिए वह हमेशा सुर्खियों में रहती हैं. चाहे वो पिछले साल क्राइस्टचर्च में बड़े पैमाने पर हुई गोलीबारी हो, दिसंबर में ज्वालामुखी विस्फोट या मौजूदा कोरोनावायरस महामारी हो, जेसिका ने हर मुसीबत का डटकर मुकाबला किया है.

Spread the love